Close
All City Editions
Close
Close

You have limited access to jagran epaper
on your device.

More from Front Page

  • कैलास मानसरोवर यात्र हुई आसान, चीन सीमा तक सड़क तैयार
  • 69000 शिक्षक भर्ती की उत्तरकुंजी जारी
  • एप से प्रवासी कामगारों को योजनाओं का लाभ
  • लंबित परीक्षाएं एक जुलाई से, जल्द आएगा शेड्यूल
  • 31 अगस्त तक आए ढांचा ध्वंस पर फैसला
  • शराब की ऑनलाइन बिक्री पर हो विचार
  • ट्रैक पर सोए 16 मजदूर कटे
  • वेबसाइट पर पढ़े
  • रिकवरी रेट और बढ़ा, सरकार ने कहा-कोरोना के साथ जीना होगा

More from Front Page

  • 11 इकाइयों में खुला ताला लेकिन काम बंद
  • कोरोना महामारी से लड़ने को व्यवहार में परिवर्तन बड़ी चुनौती
  • बीएचयू टेलीमेडिसिन ओपीडी में लें परामर्श
  • गोखले के नेतृत्व में पड़ी काशी हिंदू विश्वविद्यालय की नींव
  • बनाएं इमरजेंसी आइसोलेशन वार्ड
  • नोडल अधिकारी ने राहत कार्य की ली जानकारी
  • हर प्रवासी को देनी होगी 27 जानकारी
  • मालवीय मिशन ने जुटाए एक लाख

More from Front Page

  • सुर-राग में गूंजी अप्पा जी की याद
  • न्यास के फैसले तक मंदिर के अर्चक ही करेंगे सप्तर्षि आरती
  • दवा की दुकानों पर छापा, 6 को नोटिस
  • दवा कारोबारी अस्पताल से पहुंचा अस्थाई जेल
  • बीएचयू चांसलर के नाम से भेजा गया फर्जी मेल
  • खबरें एक मिनट में
  • पूर्व महंत परिवार पर रोक के विरोध में जलाए दीप
  • शासन को फर्जी डिग्रीधारी अध्यापकों की तलाश
  • बदले जाएंगे विद्युत तार आज रोस्टरिंग से आपूर्ति

More from Front Page

  • ईद के लिए रखे पैसों से भूखों को खिलाएं खाना
  • परीक्षाíथयों को स्वकेंद्र की सुविधा संभव: कुलपति
  • सनबीम शिक्षण समूह ने बढ़ी हुई फीस ली वापस
  • इंसानियत की खिदमत भी है बड़ी इबादत
  • बाइक सवार युवक की गड्ढे में गिरने से मौतजासं, चौबेपुर: जयरामपुर गांव के समीप शुक्रवार की दोपहर रिश्तेदार के घर जा रहे लोहता थाना क्षेत्र के भरथरा गांव निवासी प्रेमनाथ मिश्र 48 वर्ष बाइक सवार अनियंत्रित होकर गड्ढे में गिर कर घायल हो गए। रिश्तेदारों ने घायल अवस्था में उन्हें बीएचयू ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया जहां मौत हो गई।

More from Front Page

  • नए सिरे से होगा केंद्र निर्धारण
  • डिजनी हॉटस्टार व एयरटेल के बीच समझौता
  • जिला स्तर पर भी नहीं खेले, बन गए कोच
  • पीएनयू क्लब सदस्यों ने किया रक्तदान
  • गिलोय के लगाए दो लाख पौधे
  • खत्म होने वाला है घर से आया लड्डू
  • बांटी खाद्य सामग्री
  • जिले में 665 बच्चे मिले आउट ऑफ स्कूल

More from Front Page

  • कबीरचौरा मंडलीय अस्पताल में खुलेगी कोरोना जांच लैब
  • खेत में मिले ब्रिटिशकालीन चांदी के सिक्के
  • कोरोना के लिए बीएचयू एडवांस हब अस्पताल

More from Front Page

More from Front Page

  • उज्‍जवल भविष्य की कामनाबना रहे सामूहिकता का भाव शीर्षक लेख में डॉ. विजय अग्रवाल ने कोरोना वायरस तथा उसके प्रभाव स्वरूप उपजाई जा रही नकारात्मक स्थितियों का आकलन किया है। हमें यह समझना होगा कि मनुष्य सामाजिक प्राणी है। समाज का अंत, उपन्यास का अंत, लेखक की मृत्यु, इतिहास का अंत अथवा ईश्वर की मृत्यु जैसी घोषणाएं निराशा से आक्रांत पाश्चात्य जगत में ही अधिक सामने आई हैं। भारतीय चिंतन तो सृष्टि के प्रत्येक जीव में सामूहिकता की भावना मानता है। सामूहिकता केवल एक भाव अथवा आवश्यकता ही नहीं है, यह एक सकारात्मक ऊर्जा है जिसके सहारे मानवता यहां तक पहुंची है। वैदिक चिंतन से अनुप्राणित भारत के प्रत्येक नागरिक के डीएनए में ही सामूहिकता है। यह जीवन की एक संरचना मात्र नहीं है, अपितु अपने आप में जीवन ही है। ऋग्वेद का अंतिम सूक्त सामूहिकता का आह्वान करता है-‘सं गच्छध्वं सं वदध्वं सं वो मनासि जानताम्।’ कोरोना संकट स्थाई नहीं है। मानवता ने ऐसे अनेक संकट देखे हैं, उन पर विजय पाई है। गिरिधर के शब्दों में कहें तो-‘बीती ताहि बिसार दे, आगे की सुधि लेय’ से प्रेरणा लेकर सुखद एवं उच्च्वल भविष्य की कामना करें।डॉ. वेदप्रकाश, हंसराज कॉलेज, दिल्लीढील की समय अवधि हो कम लॉकडाउन- 3 में जिस तरह सरकार ने ढील दी है उससे लग रहा है कि कोरोना को पांव पसारने के लिए मौका मिल गया है। लॉकडाउन में ढील की समयावधि इतनी लंबी है कि उसमें लोग काम पर कम, तफरी पर ज्यादा निकल जा रहे हैं। इस दौरान मास्क लगाने व सैनिटाइजर के उपयोग को कौन कहे शारीरिक दूरी की भी धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। पुलिस भी बस मूक दर्शक बनी हुई है। गलियों में तो जुआ, कैरम, ताश आदि खेलने के संग अड़ी की छूट मिल गई है। समझ में नहीं आ रहा कि न्यूज चैनल, अखबार, सोशल मीडिया आदि पर हर दिन कोरोना को लेकर जानकारी देने संग जागरूक किया जा रहा है। बावजूद इसके लोग जान जोखिम में डालकर हद दर्जे की लापरवाही बरत रहे हैं जो पूरे समाज के लिए संकट में डालने वाला कदम है। अभी तक कोरोना वायरस की दवा भी नहीं बनी है। ऐसे में और सतर्क रहना जरूरी है। सरकार को लॉकडाउन में ढील की समय अवधि कम करनी चाहिए ताकि लोग बस काम के लिए निकलें। रणजीत तिवारी, बरेमा, वाराणसी।कोरोना से अर्थव्यस्था बेपटरीकोरोना वायरस को लेकर पूरे विश्व में हर देश अपने यहां इसकी दवा तैयार करने में लगा है। हाल ही में इजरायल के रक्षा मंत्री ने यह दावा भी किया है कि वह जल्दी इस वायरस की दवा लेकर सामने आएंगे। इससे उम्मीद जगी है कि अब कोरोना वायरस का खात्मा नजदीक है। एक बार इसकी दवा अगर आ गई तो फिर तेजी से इसे समाप्त किया जा सकेगा। हालांकि कोरोना वायरस के दौरान जिस तरीके से पूरे विश्व की अर्थव्यवस्था बेपटरी हुई है वह चिंताजनक व चुनौतीपूर्ण है। अब, जैसे ही इसकी वैक्सीन बन जाती है लोगों की जिंदगी एक बार फिर अपनी राह पकड़ लेगी। कोरोना वायरस के चलते गरीब वर्ग सबसे ज्यादा परेशान है। सरकार ऐसे लोगों तक राशन पहुंचा रही है लेकिन तमाम प्रयास के बावजूद बड़ी आबादी वंचित है। ऐसे में ये लोग कोरोना तो नहीं मगर भूख के शिकार जरूर हो जा रहे हैं। संजय, नवापुरा, वाराणसी।
  • भारत को नीचा दिखाने वाला सर्वेक्षण
  • असफलता सफलता की ट्यूशन फीस है
  • क्या मैं अपनी तपिश और बढ़ाऊं तो राहत मिलेगी?
  • आर्थिक मुख्यधारा का हिस्सा बनें मजदूर
  • धैर्य खो रहा विपक्षमुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नेता प्रतिपक्ष राम गो¨वद चौधरी को पत्र लिखकर सही नसीहत दी है कि यदि वह कोरोना नियंत्रण मुहिम में जुटे तंत्र का मनोबल नहीं बढ़ा सकते तो कम से कम निर्थक आरोप लगाकर मनोबल गिराना तो नहीं चाहिए। आसार कम ही हैं कि चौधरी और अन्य विपक्षी नेता इस नसीहत का ध्यान रखेंगे, पर विपक्ष को याद रखना चाहिए कि कोरोना संकट वैश्विक आपदा है। इसके लिए किसी को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता, पर जहां तक इस आपदा से निपटने का सवाल है, योगी आदित्यनाथ के विजन, प्रबंधन और क्रियान्वयन की सराहना पूरी दुनिया में की जा रही है। उत्तर प्रदेश का भौगोलिक और जनसांख्यिक विस्तार अधिकतर देशों से अधिक है। इतने बड़े भूभाग और जनसंख्या को कोरोना संकट से यथासंभव महफूज रखने का प्रबंधन आसान नहीं है। योगी सरकार ने बहुत व्यवस्थित तरीके से इसे करके दिखाया। मुख्यमंत्री की शायद यही उपलब्धि विपक्ष को बेचैन कर रही है। विपक्षी दल जिस तरह कभी श्रमिकों, तो कभी कोई अन्य सवाल उठाकर सरकार को कठघरे में खड़ा करने का प्रयास कर रहे हैं, उसे आम आदमी भी पसंद नहीं कर रहा होगा। वजह है कि केारोनाकाल में सरकार ने न सिर्फ अन्य राज्यों में फंसे छात्रों और श्रमिकों को उनके घर पहुंचाने की जिम्मेदारी निभाई बल्कि लाखों परिवारों को खाना, राशन और पैसा भी पहुंचाया। बेशक इतने बड़े अभियान में कुछ गड़बड़ियां रह गई होंगी, कुछ लोग सहायता पाने से वंचित रह गए होंगे, पर ऐसी छोटी बातों को तूल देकर सरकार की पूरी कवायद को खारिज कर देना उचित नहीं है। कोरोना राजनीति नहीं बल्कि योगदान करने का विषय है। विपक्षी दलों को अपने गिरेबान में झांककर देखना चाहिए कि जिस अभियान में सरकार के अलावा छोटे-बड़े उद्यमी, व्यवसायी, दुकानदार, गरीब किसान, मजदूर, बच्चे, शिक्षक, डॉक्टर, पुलिसकर्मी, सफाईकर्मी और अन्य सामाजिक वर्गो के लोग अपनी स्थिति के हिसाब से योगदान कर रहे हैं, उसमें उन्होंने क्या योगदान किया? कोरोना संकट से घिरे लोगों से यह बात छिपी नहीं है कि कौन उनकी मदद कर रहा और कौन राजनीति। मौका मिलने पर लोग जवाब भी देंगे।

More from Front Page

  • सूबे की एमएसएमई इकाइयों को तकनीकी सहयोग देगा डेनमार्क
  • सीएम ने जताया शोक
  • छह जुलाई से शुरू होगा कॉलेजों में नया सत्र
  • प्रवासी श्रमिकों को गौ आश्रय स्थलों से जोड़ें
  • पांच लोगों की मौत, 113 नए मरीज मिले
  • कारखानों में रोज 12 घंटे से ज्यादा काम नहीं करेंगे कामगार
  • प्रदेश में श्रम कानूनों से राहत बढ़ाएगी कारोबार व रोजगार
  • मेधावी व ओबीसी अभ्यर्थियों की बल्ले-बल्ले

More from Front Page

More from Front Page

  • खबरें एक मिनट में
  • शेयर बाजारों को रिलायंस का दम
  • विभिन्न संस्थाओं को फिलहाल पंजीकरण से छूट
  • लॉकडाउन में दिखा दी कोयले की ढुलाई, जीएसटी टीम का छापा
  • जापान ने मांगी कंपनियों के संचालन में मदद
  • पैकेज के इंतजार में टूट रहा सब्र
  • देश बड़ी बेरोजगारी के मुहाने पर खड़ा
  • यस बैंक घोटाला मामले में वधावन बंधुओं की सीबीआइ हिरासत बढ़ी

More from Front Page

  • ज्यादा पानी मांगने की उप्र की मांग व्यावहारिक नहीं
  • तीस मुस्लिम परिवारों ने की हंिदूू धर्म में वापसी
  • टेस्टिंग पर जोर, किट पर खामोशी
  • भारत की पहली जीत
  • बत्र का कार्यकाल बढ़ा
  • भारतीय टीम के क्वारंटाइन के लिए तैयार बीसीसीआइ
  • द. कोरिया में शुरू हुई फुटबॉल लीग
  • कोरोना मरीज के लिए एम्स के डॉक्टर ने दांव पर लगाई जान

More from Front Page

  • इस गांव के खून से समृद्ध एम्स का ब्लडबैंक
  • पाक ने की गोलाबारी, भारत ने ढेर किए चार सैनिक
  • पैकेज में हुई देरी तो बेरोजगारी की आएगी सुनामी: राहुल
  • संक्रमण के तीसरे दिन सूंघने की शक्ति खो सकता है कोरोना रोगी
  • उप्र और मप्र में कामगारों का हंगामा
  • घूमने लगे उद्योगों के पहिये, मजदूरों को रोकने में जुटे कारोबारी
  • छत्तीसगढ़ में चार नक्सली ढेर, एसआइ शहीद
  • दो कारें भिड़ीं, छह लोगों की मौत
  • पहली बार ऑनलाइन होगी एलसैट प्रवेश परीक्षा
  • सर्वे कर रही टीम का रजिस्टर फाड़ा
  • महाराष्ट्र में एक हजार से ज्यादा नए मामले

More from Front Page

  • भारतवंशी डॉक्टर पिता व पुत्री की कोरोना से मौत
  • पाक से जुड़ा मोस्ट वांटेड गैंगस्टर बिल्ला समेत सात गिरफ्तार
  • दूसरे चरण में रूस, यूक्रेन से लाए जाएंगे भारतीय
  • चीन से कोई बड़ी गलती हुई या फिर वह अक्षम है
  • भले मर जाएं पर मुफ्तखोरी हमें मंजूर नहीं..
  • स्पेन में समुद्र तटों पर जाने की मिली इजाजत
  • चीन में बेटे ने मां को जिंदा दफनाया, तीन दिन बाद बचाया गया
  • हरिद्वार में गंगा में अस्थि विसर्जन की सशर्त अनुमति
  • आकाशवाणी व दूरदर्शन भी देंगे गिलगिट के मौसम की जानकारी
  • स्वच्छता की आदतों से आधा हो सकता है संक्रमण का खतरा
  • एनजीटी ने एलजी पॉलीमर्स पर ठोका 50 करोड़ जुर्माना
  • द्वितीय विश्व युद्ध के अंत की 75वीं वर्षगांठ
  • सभी शिक्षकों को ऑनलाइन पढ़ाने का भी मिलेगा प्रशिक्षण
If text is not readable, Kindly click on download to read newspaper.
If text is not readable, Kindly click on download to read newspaper.
If text is not readable, Kindly click on download to read newspaper.
If text is not readable, Kindly click on download to read newspaper.
If text is not readable, Kindly click on download to read newspaper.
If text is not readable, Kindly click on download to read newspaper.
If text is not readable, Kindly click on download to read newspaper.
If text is not readable, Kindly click on download to read newspaper.
If text is not readable, Kindly click on download to read newspaper.
If text is not readable, Kindly click on download to read newspaper.
If text is not readable, Kindly click on download to read newspaper.
If text is not readable, Kindly click on download to read newspaper.
If text is not readable, Kindly click on download to read newspaper.
If text is not readable, Kindly click on download to read newspaper.
ePaper Thumbnail