उफ.. टॉयलेट में भी जगह नहीं

  • June 25, 2019

जागरण संवाददाता, गोरखपुर : यात्रियों की दुश्वारियां बढ़ती ही जा रही हैं। गोरखधाम एक्सप्रेस की जनरल बोगियों में अब तो टॉयलेट में भी जगह नहीं मिल रही। मजबूर यात्री खिड़कियां तोड़ टॉयलेट में कब्जा जमा ले रहे हैं। बच्चे, महिला और दिव्यांग यात्रियों की परेशानियां और बढ़ गई हैं।

सोमवार को शाम चार बजे के आसपास जनरल की सभी बोगियां भर गई थी। सीट नहीं मिलने पर यात्री फर्श पर बैठे थे। अधिकारी यात्री गेट पर ही पैर फैलाकर बैठ गए। इसके बाद भी यात्रियों की भीड़ बढ़ती जा रही थी। कुछ यात्री खिड़कियों के रास्ते टॉयलेट में प्रवेश कर गए और उसी में खड़े हो गए। चाय, पानी और नाश्ता के बाद यात्रियों का टॉयलेट भी बंद हो गया। 4.35 बजे से रवाना होने वाली यह ट्रेन लगभग 15 घंटे में दिल्ली पहुंचती है। इस दौरान आने वाली मुश्किलें यात्रियों के चेहरे पर साफ झलक रही थीं। टॉयलेट में खड़े यात्री सुभग और लालबहादुर का कहना था कि मजबूरी में जाना पड़ रहा है। 15 घंटे टॉयलेट में खड़े होकर सफर करना किसी भी बड़ी सजा से कम नहीं है। ऊपर से सुरक्षा बलों की प्रताड़ना भी सहनी होगी। अन्य यात्री टॉयलेट भी नहीं कर पाते हैं।

दरअसल, दिल्ली (हिसार) के लिए गोरखपुर से रोजाना सिर्फ गोरखधाम एक्सप्रेस ही है। सात जनरल बोगियों में रोजाना औसत ढाई से तीन हजार लोग यात्र करते हैं। लोग लगातार दिल्ली के लिए गोरखपुर से अंत्योदय या जनसाधारण एक्सप्रेस की मांग कर रहे हैं लेकिन सुनवाई नहीं हो रही। स्थिति विकट होती जा रही है।

उफ.. टॉयलेट में भी जगह नहीं